रसोई उत्सव में गुरुवार से मिठाइयों के स्वाद, चटकारे, और मसालों की महक से महकेगा राजस्थान हाट- उद्योग आयुक्त

  • District : dipr
  • Department :
  • VIP Person :
  • Press Release
  • State News
  • Attached Document :

    T-13-03-2019-6.doc

Description

रसोई उत्सव में गुरुवार से मिठाइयों के स्वाद, चटकारे, और मसालों की
महक से महकेगा राजस्थान हाट- उद्योग आयुक्त 

जयपुर, 12 मार्च। उद्योग आयुक्त डॉ. कृृष्णा कांत पाठक ने बताया कि जलमहल के सामने स्थित राजस्थान हाट गुरुवार से चार दिनों तक मिठाईयों के स्वाद और सुगंध, मसालों की महक और लोकरंजन की चहक से सराबोर होगा। राजस्थान सरकार के उद्योग विभाग द्वारा 14 मार्च से 17 मार्च तक चार दिवसीय रसोई-2019 ः स्वाद राजस्थान का उत्सव आयोजित किया जा रहा है।

उद्योग आयुक्त डॉ. कृृष्णा कांत पाठक ने बताया कि रसोई उत्सव में सवा सौ से अधिक प्रतिभागियों द्वारा प्रदेश के अंचल विशेष के व्यंजन, खाने-पीने की सामग्री, मसालें और रसोई में उपयोग के परंपरागत पात्रों से लेकर आधुनिक पात्र तक उपलब्ध होंगे। रसोई उत्सव में खाद्य व्यापार संघ, के अध्यक्ष श्री बाबू लाल गुप्ता,फोर्टी के इंटरनेशनल अफेयर्स कमेटी के चेयरमेन श्री अजय गुप्ता, राजस्थान ऑयल मैन्यूफेक्चरिंग फैडरेशन के अध्यक्ष श्री मनोज मोरारका सहितविभिन्न औद्योगिक संघों की सक्रिय भागीदारी तय की गई है।

उन्होंने बताया कि जयपुरराइट्स के लिए उद्योग विभाग का इस तरह का यह अभिनव और अनूठा प्रयास है। यह पहला प्रयास होगा कि राजस्थान हाट पर जयपुरवासी चोखी ढ़ाणीके खाने, पुष्कर के मालपुए, जैसलमेर की चमचम, गंगापुर का खीर मोहन, चिड़ावा के पेड़े, राजस्थान की परंपरागत चूरमा बाटी और दाल, गुलाबजामुन समोसा, गाल के लड्डू, दौसा का डोयटा सहित विभिन्न व्यंजनों का आनंद ले सकेंगे वहीं बीकाजी के भुजिया नमकीन, भुसावर, भीलवाड़ा व बांदीकुई के आचार सहित विभिन्न तरह के नमकीन, रोस्टेड आइटम और और भी बहुत कुछ खाद््य सामग्री उपलब्ध होगी। कोटा की कचोरी, नसीराबाद का कड़ी कचोरी सहित एक से एक स्वादिष्ट व्यंजनों का चटकारा लिया जा सकेगा।

 डॉ. पाठक ने बताया कि रसोई उत्सव का एक बड़ा आकर्षण साबुत और पिसे हुए मसाले होंगे। उन्होंने बताया कि कोटा सहकारी उपभोक्त भण्डार रामगज मंडी के धनिया, बूंदी के चांवल, सभी मसाले, दालें, पोहे और अनेक उत्पाद ला रहे हैं। इसके अलावा विदेशों में निर्यात कर रही श्यामधनी के मसाले, पिंकसिटी मसाले सहित विभिन्न ब्रांडों के मसाले भी उपलब्ध होंगे। वहीं ऑयल मैन्यूफेंक्चरिंग एसोसिएन के बैनर तले सरसों व अन्य तेल, तिलम संघ का तेल, व अन्य उत्पादकों के खाद्य तेल उपलब्ध होंगे। इसके अलावा मिट्टी, कांसी, लोहे आदि के बर्तन उपलब्ध होेंगे।

 अधिकारियों की बैठक में तैयारियों का जायजा लेने के बाद उन्होंने बताया कि प्रतिदिन व्यंजन प्रतियोगिता के साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी होगा। 14 मार्च को मेंटर अंबिका मिश्रा के सानिध्य में इंडियन आईडल अकेडमी द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी जाएगी। रसोई उत्सव में प्रवेश निःशुल्क है और यह प्रातः 11 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहेगा।

Supporting Images