राजीव गांधी जल संचय योजना की राज्य स्तरीय समिति की बैठक ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण व संवर्धन हेतु ग्रामीणों एवं जन प्रतिनिधियों से सहयोग लिया जाये -मुख्य सचिव

राजीव गांधी जल संचय योजना की राज्य स्तरीय समिति की बैठक  ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण व संवर्धन हेतु  ग्रामीणों एवं जन प्रतिनिधियों से सहयोग लिया जाये -मुख्य सचिव
  • District : dipr
  • Department :
  • VIP Person :
  • Press Release
  • State News
  • Attached Document :

    S-26-11-19-07.docx

Description

राजीव गांधी जल संचय योजना की राज्य स्तरीय समिति की बैठक 
ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण व संवर्धन हेतु
 ग्रामीणों एवं जन प्रतिनिधियों से सहयोग लिया जाये
-मुख्य सचिव

जयपुर, 26 नवम्बर। मुख्य सचिव श्री डी.बी.गुप्ता ने कहा कि राजीव गांधी जल संचय योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण एवं संवर्धन के लिए ग्रामीणों एंव जन प्रतिनिधियों से सहयोग लिया जाये।श्री गुप्ता मंगलवार को शासन सचिवालय में राजीव गांधी जल संचय योजना के क्रियान्वयन हेतु गठित राज्य स्तरीय समिति की प्रथम बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों से विस्तृत विचार-विमर्श कर रहे थे। 

बैठक में उन्होेंने जल संरक्षण से जुडे़ विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे योजनान्तर्गत अपेक्षित फण्ड के कार्य राजीव गांधी जल संचय योजना के अन्तर्गत कन्वर्जेंस के माध्यम से करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि आम जन में जल संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के लिए हर जिले में जल संरक्षण के प्रति सजग, समर्पित, अनुभवी एवं तकनीकी विशेषज्ञों का मनोनयन करने पर विशेष ध्यान देना होगा।

मुख्य सचिव ने कहा कि राजस्थान कम बारिश क्षेत्र होने के कारण हमें भू-जल से ही पेयजल एवं कृषि कार्यो के लिए अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति करनी होती है। वर्षा जल को भूगर्भ में रिचार्ज करने के लिए ज्यादा से ज्यादा जल सरंक्षण ढांचों का निर्माण कर जल स्तर उंचा उठाने की उन्होंने महती आवश्कता बताई। साथ की जल का सही सदुपयोग करने हेतु फ्लड ईरीगेशन को रोकने पर भी जोर दिया।

इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री गुप्ता ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में ऎसे स्थानों का चयन करना होगा जहां अभी तक जल सरंक्षण ढांचों का निर्माण नहीं हुआ है। इसके साथ - साथ ऎसे गांवों की विस्तृत कार्य योजना तैयार करनी होगी। उन्होंने जल संसाधन,जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, कृषि, वन, महात्मा गांधी नरेगा, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग, भूजल विभाग आदि जल के संबंध में कार्य करने वाले विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे जिलों में चिन्हित किये जाने वाले कार्यों की एक विस्तृत कार्ययोजना तैयार 17 दिसम्बर तक कर प्रस्तुत करें। उन्होंने भारत सरकार द्वारा घोषित नवीन योजना ‘‘ राष्ट्रीय जल संरक्षण योजना‘‘ के संबंध में वांछित प्रस्ताव तैयार कर शीघ्र भारत सरकार को भिजवाने के निर्देश दिये।

श्री गुप्ता ने अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजेश्वर सिंह, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा राजीव गांधी जल संचय योजना के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु प्रस्तावित कार्य योजना, पंचायती राज संस्थाओं के लिये जिला स्तरीय एवं ब्लॉक स्तरीय कार्यशालाओं, दिसम्बर माह में उधोग विभाग के सहयोग से सीएसआर कन्कलेव,धार्मिक समूहों, स्वंयसेवी संस्थाओं, सामाजिक ट्रस्ट एवं भामाशाह आदि से जल संचय योजना हेतु सहयोग प्राप्त करने के लिये कार्यशाला, जल संचय सप्ताह आदि मनाने के प्रस्तावों को अनुमोदित कर दिया। 

बैठक में सूचना एवं प्रोद्यौगिकी एवं जन सम्पर्क विभाग के प्रमुख सचिव, श्री अभय कुमार, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के प्रमुख सचिव श्री सन्दीप वर्मा, सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव नरेश पाल गंगवार, विशिष्ठ शासन सचिव, पंचायत राज, डॉ. आरूषि ए. मलिक सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।  

----


Supporting Images

राजीव गांधी जल संचय योजना की राज्य स्तरीय समिति की बैठक  ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण व संवर्धन हेतु  ग्रामीणों एवं जन प्रतिनिधियों से सहयोग लिया जाये -मुख्य सचिव राजीव गांधी जल संचय योजना की राज्य स्तरीय समिति की बैठक  ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण व संवर्धन हेतु  ग्रामीणों एवं जन प्रतिनिधियों से सहयोग लिया जाये -मुख्य सचिव